Sat. May 30th, 2020

Top Government Jobs

Find top government job vacancies here!

२०२० चंद्र चंद्र (चंद्रग्रहण) तिथि समय यहाँ जानिए इस वर्ष

1 min read
TOPGOVJOBS.COM
Spread the love


चंद्र ग्रहण की तारीख का समय वर्ष 2020 में चार चंद्र ग्रहण होंगे जो कि दुनिया के विभिन्न भागों में नजर आएंगे और आप यहाँ इस वर्ष के दुसरे चंद्र ग्रहण 2nd चंद्र ग्रहण 2nd Chandra Grahan के बारे में जानकारी देख सकते हैं इस साल यानी 2020 का दूसरा चन्द्र ग्रहण चंद्र ग्रहण जून महीने में लगने जा रहा है | चंद्र ग्रहण को वुल्फ मून चंद्र ग्रहण चंद्र ग्राहण भी कहा जाता है | जानकारी के लिए बतादे की चंद्र ग्रहण एक ऐसी खगोलीय घटना है जिसमें पृथ्वी सूर्य की रोशनी को चंद्रमा तक पहुंचने से रोकती है यानी ऐसा जब पृथ्वी, सूर्य और चंद्रमा के ठीक बीच में होता है। आइए जानते हैं कि 2020 का दूसरा चंद्र ग्रहण कब और कहां होगा दूसरा चंद्रग्रहण चंद्र गृह तिथि दुसरे चन्द्र ग्रहण का समय दूसरा चंद्रग्रहण चंद्रग्रहण का समय आदि से बहुत से लोगो के मन में सवाल है की दूसरी चंद्र ग्रहण कब है इस चन्द्र ग्रहण पर सूतक लगेगा या नहीं चन्द्र ग्रहण कुल कितने समय तक होगा और चन्द्र ग्रहण कितने समय तक होगा, यहां आप इस वर्ष के दुसरे चंद्रेंद्र ग्रहण से सम्बंधित सभी जानकारी प्राप्त कर सकते है |

२०२० चन्द्रग्रहण तिथि समय

चन्द्र ग्रहण तिथि और समय २०२० चंद्रग्रहण तिथि समय: इस वर्ष का दूसरा चन्द्र ग्रहण २०२० चन्द्रग्रहण चंद्रग्रहण ५-६ जून | लगेगा | विद्वान पंडितो व ज्योतिषों के अनुसार 5-6 जून को होने वाला चन्द्र ग्रहण वृश्चिक राशि और ज्येष्ठा नक्षत्र में लग रहा है और 2020 का दूसरा चन्द्र ग्रहण 5 जून शुक्रवार (चन्द्र ग्रहण का समय) को रात 11 बजकर 16 मिनट से प्रारंभ होगा और 06 जून शनिवार को 2 बजकर 34 मिनट तक रहेगा | इस वर्ष का दूसरा चंद्र ग्रहण कुल 03 घंटे 18 मिनट का होगा | आपको बतादे की यह चंद्र ग्रहण भारत, यूरोप, अफ्रीका, एशिया और ऑस्ट्रेलिया में देखा जा सकता है |

चंद्र ग्रहण तिथि समय २०२० चन्द्र ग्रहण तिथि समय

5-6 जून चन्द्र ग्रहण चन्द्र ग्रहण तिथि सूतक काल
चंद्र ग्रह तिथि 5-6 जून 2020
चन्द्र ग्राहन प्रारंभ समय 11:16 AM (5 जून)
चन्द्र ग्राह अंत समय 02:34 AM (6 जून)
चंद्रग्रहण का कुल समय 03 घंटे 18 मिनट
चंद्र ग्रहन सूतक समय शून्य

चन्द्र ग्राहन सूतक समय / सामय

हिंदू धर्म में ग्रहण को सबसे अधिक महत्वपूर्ण माना जाता है | ग्रहण में किसी भी तरह का कोई शुभ कार्य नहीं किया जाता | यहाँ तक की मंदिरों के कपाट भी बंद कर दिये जाते हैं | लेकिन आपको बतादे की 5-6 जून को होने वाला चन्द्र ग्रहण उप शुभया चंद्र ग्रहण होने के कारण इसकी सूक्त अवधि मान्य नहीं होगी | ज्योतिषो के अनुसार सूक्त उसी ग्रहण का विश्वास होता है जिसे हम नंगी आँखों से देख पाएं | और धार्मिक मान्यताओ के अनुसार उपचया ग्रहण को ग्रहण की कोटि में कोई नहीं रखा जाता है इसलिए उपछाया ग्रहण होने की वजह से 5-6 जून को होने वाला चंद्रग्रहण में सूक्त नहीं लगेगा | मंदिरों के कपाट व पूजापाथ के कार्य भी बंद नहीं किए जा रहे होंगे

इस चन्द्र ग्रहण पर वृश्चिक राशि पर असर पड़ेगा

5-6 जून को होने वाला चन्द्र ग्रहण हमारे लिए सबसे महत्वपूर्ण है | क्योकि इस साल का दूसरा चंद्र ग्रहण वृश्चिक राशि में होने जा रहा है | इसलिए यह अत्यंत सावधान रहने की जरूरत है | वृश्चिक राशि में ग्रहण लगने की वजह से आपकी राशि, लग्न और 7 भाव भाव प्रभावित हो रहा है | इससे बुद्धि भ्रमित होगी, आपकी और जीवनसाथी की सेहत पर भी असर पड़ेगा | यह चंद्र ग्रहण की पूरी छाया आपके 7 वें भाव पर पड़ेगी | इसके अलावा आपका तीसरा, पांचवां और ग्याहरवां भाव भी प्रभावित होगा जिससे लाभ में कमी आएगी, स्वास्थ्य संबंधी कठिनाइयोंें आएगी, भाई-बहनों से संबंध खराब होंगे, जीवनसाथी से मतभेद और बदनामी के योग भी बन रहे हैं।

चन्द्र ग्रहण कब और कैसे होगा

5-6 जून को होने वाला चन्द्र ग्रहण इस वर्ष का दूसरा चन्द्र ग्रहण है | लेकिन यह चन्द्र ग्रह उप शुभया चंद्र ग्रहण है | उप शुभया चंद्र ग्रहण तब होता है जब सूरज और चांद के बीच पृथ्वी घूमते हुए आता है, लेकिन वे चांद की उपशक्तिया में आते ही वापस निकल जाते हैं | इस दौरान पृथ्वी चांद की असली छाया भूभा में प्रवेश नहीं करती है | इसलिए उपकृया के समय चंद्रमा का बिंब केलक धुंधला दिखाई देता है, काला नहीं होता है | यह धुंधलेपन को सामान्य रूप से देखा नहीं जा सकता है | इसलिए ये उप शुभया चंद्र ग्रहण होता है न कि मूल चंद्र ग्रहण |



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights reserved. | Theme by topgovjobs.com.