हमारी सरकार के तहत भर्ती प्रक्रिया और अधिक सरल, | topgovjobs.com

नयी दिल्ली, 20 जनवरी (भाषा) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि उनकी सरकार ने भर्ती प्रक्रिया को सरल बनाकर और समय सीमा को कम करके पारदर्शिता और गति बढ़ाकर व्यापक बदलाव किए हैं।

विभिन्न सरकारी विभागों में भर्ती के लिए 71,426 नियुक्ति पत्र वितरित करते हुए, मोदी ने कहा कि चल रहा ‘रोजगार मेला’ अभ्यास उनकी सरकार की पहचान बन गया है। इससे पता चलता है कि यह जो करने का प्रस्ताव करता है उसका अनुपालन करता है, उन्होंने कहा।

प्रधान मंत्री ने पिछले साल 10 लाख लोगों को काम पर रखने के लिए ‘रोज़गार मेला’ अभियान की घोषणा की थी और शुक्रवार को नोट किया कि कई राज्य जहां भाजपा और उसके सहयोगी दल सत्ता में हैं, उन्हें भी रखा गया है।

अधिक राज्य जल्द ही उनकी मेजबानी करेंगे, उन्होंने कहा।

उन्होंने रंगरूटों को संबोधित करते हुए उन्हें लोगों की सेवा करने का निर्णय लेने को कहा और कहा कि प्रशासन व्यवस्था में मंत्र यह होना चाहिए कि नागरिक हमेशा सही होता है, जैसे व्यापार में देखा जाता है कि उपभोक्ता हमेशा सही होता है।

इसीलिए सरकारी क्षेत्र में रोजगार को “सरकारी सेवा” कहा जाता है न कि नौकरी, उन्होंने कहा।

प्रधान मंत्री ने कहा कि बड़ी संख्या में भर्ती उन परिवारों से होती है जहां कोई भी सरकारी सेवा में नहीं था। उन्होंने कहा कि एक पारदर्शी और स्पष्ट भर्ती प्रक्रिया लोगों की योग्यता और क्षमता को पुरस्कृत करती है।

मोदी ने कहा कि बुनियादी ढांचा क्षेत्र में बड़े पैमाने पर निवेश से रोजगार और स्वरोजगार के अवसर बढ़े हैं। उन्होंने कहा कि जब विकास तेज गति से होता है तो स्वरोजगार के अवसर भी तेजी से बढ़ते हैं।

पीएमओ ने पहले कहा था कि ‘रोजगार मेला’ रोजगार सृजन को सर्वोच्च प्राथमिकता देने के मोदी के संकल्प को पूरा करने की दिशा में एक कदम है।

उन्होंने कहा कि ‘रोजगार मेला’ से अधिक रोजगार पैदा करने में उत्प्रेरक के रूप में कार्य करने और युवाओं को उनके सशक्तिकरण और राष्ट्रीय विकास में भागीदारी के लिए सार्थक अवसर प्रदान करने की उम्मीद है।

देश भर से चुने गए नए रंगरूट केंद्र सरकार के तहत जूनियर इंजीनियर, लोकोमोटिव पायलट, टेक्नीशियन, इंस्पेक्टर, सब-इंस्पेक्टर, बेलीफ, स्टेनोग्राफर, जूनियर अकाउंटेंट, ग्रामीण डाक सेवक, इनकम टैक्स इंस्पेक्टर जैसे विभिन्न पदों पर काम करेंगे। शिक्षकों, नर्सों। , डॉक्टर, सामाजिक सुरक्षा अधिकारी आदि शामिल हैं।

शो के दौरान ‘कर्मयोगी प्रारंभ’ मॉड्यूल सीखने में नवनियुक्त सिविल सेवकों के अनुभव को भी साझा किया गया क्योंकि मोदी ने उनमें से कुछ के साथ बातचीत की।

मॉड्यूल विभिन्न सरकारी विभागों में सभी नए सिविल सेवकों के लिए एक ऑनलाइन उन्मुखीकरण पाठ्यक्रम है। पीटीआई केआर डीवी डीवी

यह रिपोर्ट पीटीआई न्यूज फीड से स्वत: उत्पन्न होती है। दिप्रिंट इसकी सामग्री के लिए ज़िम्मेदार नहीं है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *